Log in| Register

Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

Create an account

Fields marked with an asterisk (*) are required.
Name *
Username *
Password *
Verify password *
Email *
Verify email *
Vishal Kumar Maurya

Vishal Kumar Maurya

Myself Vishal Kumar Maurya , presently studying in Zakir Husain Delhi college, University of Delhi for the course B.Tech Electronics .

Personal Detail

Books By Author

Author's Likes

पहले जो कलियाँ खिलती थी कभी अब वो खिलती क्यूँ नही

अब किसी खुशी से परिचय होता क्यूँ नही ,

रूत भी वही है , फिजा भी वही है

मैं तो यहाँ हूँ पर मेरा अक्स और कहीं है ।

शायद वो तुझमे था समाया ,

जब मैंने अपने आप को तन्हा था पाया ।

कुछ वीराना सा था वो पल ,

जिसका साया छाया है मुझ पर आजकल ।

उफ़्फ़ तेरे बेदर्द दिल के दरिया का किनारा ,

जो मुझे न दे सका कभी सहारा ।

Today's Read